What is Seo in hindi? या Seo क्या होता है?

What is Seo in hindi? या Seo क्या होता है?

Seo in hindi उर्फ़ Seo का हिंदी में मतलब है अपनी वेबसाइट को  google search rankings  में ऊपर लाना तांकि जो लोग आपके बिज़नेस के रिलेटेड कुछ सर्च कर रहे  तो आपकी वेबसाइट गूगल SERP में ऊपर आये और उन लोगो को दिखे और वो आपकी वेबसाइट पे क्लिक करे और जिससे आपकी वेबसाइट की ट्रैफिक बढे।

seo in hindi

Seo in hindi डिजिटल मार्केटिंग का ही एक हिस्सा है। मान लीजिये अगर digital marketing एक समुंदर है तो SEO एक कश्ती है। डिजिटल मार्केटिंग का concept बहुत बड़ा है जिससे हम अपनी वेबसाइट में धीरे धीरे explore करेंगे।

Seo क्यों ज़रूरी है?

अगर आपका एक बिज़नेस है और आप उसे ऑनलाइन ले जाना चाहते है तो Seo करना बहुत ही ज़रूरी है क्यूंकि Seo से क्या होगा कि गूगल और बाकी search engines  को आपके बिज़नेस के बारे में पता चलेगा और ऐसे ही धीरे धीरे गूगल का आपके बिज़नेस पे Trust बढ़ेगा ( जैसे के ये तो genuine बिज़नेस है जिसकी ऑनलाइन presence इतनी active है और इतने टाइम से है)।

इससे फिर अगर कोई customer आपके बिज़नेस से रिलेटेड कुछ ऑनलाइन search करेगा और अगर आपका trust factor अच्छा होगा तो अगली बार आप कुछ अच्छा content डालेंगे वेबसाइट तो गूगल अपने search results आपको ऊपर रैंकिंग देगा जिससे आपको ज़्यादा ट्रैफिक मिलेगी।

Seo कितने प्रकार की होती है ?

Seo normally 4 types की होती है:

On Page Seo:

इसका मतलब है अपनी वेबसाइट के content को गूगल के हिसाब से optimise करना तांकि हमारी वेबसाइट ऊपर रैंक कर सके। इसमें काफी factors आते हैं जैसे:-

  • Content optimise करना। Content हमेशा वेबसाइट की धड़कन होता है और हमे content पे हमेशा ध्यान देना चाहिए क्यूंकि अगर हम content अच्छा, knowledge से भरा और सही keyword density वाला डालेंगे तो हम हमेशा ही सबसे ऊपर रहेंगे।
  • H Tags को optimise करना जैसे कि ये check करना कि हमारे content में h1, h2, h3 tags होने बहुत ज़रूरी हैं। मतलब कि अगर हम headings देते है तो उसे h tags में डालना ज़रूरी है।
  • Image Alt Tags को optimise करना और इससे ये होगा कि जब भी अगर image load नहीं होगी तो users को वो img alt text दिखाई देगा और इससे user interface अच्छा होगा।
  • Meta Title and description को optimise करना जैसे कि meta title की limit होती है 50-60 characters और meta description की limit होती है 150-160 characters और हमे इस के हिसाब से ही उन्हें optimise करना चाहिए।
  • URL Structure को optimise करना
  • HTML/Text Ratio सही रखना। एक वेबसाइट में Text हमेशा HTML code से ज़्यादा होना चाहिए।

Off Page Seo:

इसका मतलब है अपनी वेबसाइट की प्रमोशन करना जिससे आपके potential customers यानी के संभावित ग्राहकों तक आपकी website पहुँच सके और वे लोग आपकी वेबसाइट खोल के आपका content पढ़ सकें। Promotion हम बहुत तरह से कर सकते हैं:

  • Organic तरीके से यानि कि जिसमे हमारे पैसे न लगे और Promotion भी हो जाए जैसे कि social media पर पोस्ट करना, word of  mouth तरीके से
  • Inorganic तरीके से यानि कि जिसमे हम पैसे का इस्तेमाल करें जैसे कि social media ads , Google Ads etc।
  • Link Building करना यानी जब कोई दूसरी वेबसाइट आपकी वेबसाइट को एक link देती है। कोई दूसरी वेबसाइट आपकी वेबसाइट को link तब देगी जब आप उन्हें कुछ value देंगे या आपका content उनकी audience के लिए valuable होगा तभी वे आपको link करेंगे। ये हम काफी तरीको से कर सकते है जैसे कि guest post करना, broken link building करना, classified submit करना या कोई ऐसा content या tool बनाना जिससे सभी अपनी वेबसाइट पे link करें।

Technical Seo in Hindi:

इसका मतलब है वेबसाइट को technically तौर पर optimise करना। क्यूंकि अगर वेबसाइट technically सही नहीं होगी तो वो कभी भी rank नहीं कर पायेगी। इसमें कई factors आते है :

  • Robots.txt file generate करना।
  • Sitemap.xml फाइल बनाना और अपलोड करना।
  •  404 custom redirect लगाना।
  • अगर कोई गलत url है तो उसे 302 redirect करना
  • GSC (Google search console) में जो issues हो उन्हें solve करना।

Local Seo:

इसका मतलब है नई वेबसाइट को किसी एक location के लिए optimise करना। जैसे कि अगर आप अपना बिज़नेस दिल्ली में बढ़ाना चाहते है और नहीं चाहते कि दिल्ली के बाहर से customers आये तो उसके लिए आप local seo in hindi का इस्तेमाल करेंगे।

तो ये सब seo के प्रकार थे। तो अगर आपका business है एंड उससे आप ऑनलाइन बढ़ाना चाहते है या अगर आप एक student हैं एंड डिजिटल मार्केटिंग सीखना चाहते है या अगर आप एक housewife है एंड अपने ब्लॉग को रैंक में लाना चाहती हैं या आप पहले से ही digital  marketer हैं एंड अपने client के बिज़नेस को प्रमोट करते है तो ये ब्लॉग आप अब के लिए ही है। अब आप इससे practically try करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *